Skip to content

मच्छर भगाने का प्राकृतिक उपाय क्या है ?

    Slide2

    मच्छर

    मच्छर संसार के प्रायः सभी भागो में पाया जाने वाला एक प्रकार का हानिकारक कीट है। यह विभिन्न प्रकार के रोंगो के जीवाणुओं का वहन करता है। मच्छर घरों के कुलरों में जमा पानी में , नालियों में , गड्ढ़े, तालाबों, नहरों तथा स्थिर जल के जलाशयों के निकट अंधेरी और नम जगहों पर रहता है। मच्छर एकलिंगी जन्तु हैं यानी नर और मादा मच्छर का शरीर अलग-अलग होते हैं। मच्छर के काटने पर मलेरिया ,डेंगू जैसे अनेक खतरनाक बीमारियाँ होती है |

    प्राकृतिक मच्छर धूपबत्ती

    गोश्रेष्ठ द्वारा एक मच्छर धुपबत्ती का निर्माण किया है। जिसमे गोबर ,नीम, तेजपत्ता कपूर आदि जड़ीबूटियों के मिश्रण से एक धुपबत्ती तैयार किया है। जो हमारे घर में मच्छरों को भगाने में बहुत ही प्रभावी है। तथा नींम व गोबर को वास्तु शुद्धि में उपयोग किया जाता है। इस कारण अगर हम इस धुपबत्ती का उपयोग करते हैं। तो हमारे घर द्वार की वास्तु शुद्धि भी हो जाती है। और वातावरण में कई तरह के जीवाणु को भी नष्ट कर देता है। हमारे हिंदू संस्कृति में गौ माता के गोबर नीम जलाने से वास्तु को दूर किया जाता है। इसका भी उल्लेख किया गया है।

    कपूर के प्रकार एवं उसके लाभ क्या है ?

    मच्छर धूपबत्ती

    मच्छर धूपबत्ती

    नीम एवं गोबर

    नीम स्वास्थ्यवर्धक होने के साथ-साथ इसका उपयोग मच्छरों को भगाने में काम में लिया जाता है। नीम में एक शक्तिशाली जीवाणु रोधी कवक विरोधी एंटी फंगल एंटीवायरस होने के कारण नीम हमारी त्वचा में एक विशेष प्रकार की गंध छोड़ता है जो मच्छरों को दूर भगाने का कार्य करता है। इसका उपयोग गोबर पाउडर व नीम पाउडर के मिश्रण से बने धुपबत्ती को जलाकर मच्छर को भगा सकते हैं जिसका धुंआ भी हानिकारक नहीं होता है।

    गोबर के साथ-साथ कपूर भी मच्छरों को भगाने का कार्य करता है। इसका सही लाभ देखने के लिए अपने घर के खिड़की दरवाजे बंद करके कपूर जला दें ,उसके धुआं फैलने के बाद मच्छर वही मर जाता है।नीम की पत्तियां व गोबर के साथ जलाने से भी मच्छर भाग जाता है। नींबू के छिल्के को जलाकर मच्छर को दूर भगाने में उपयोग कर सकते है।

    मच्छरों से बचाव के उपाय

    १. कुलरों में,गमलों में, छतों में जमा पानी को नियमित रूप से साफ करना |
    २. घरों से निकलने वाले गंदे पानी ,नालियों की सफाई नियमित रूप से करें |
    ३. मच्छरों से बचाव हेतु सोते समय मच्छर दानी का प्रयोग करे
    ४. मच्छरों से बचाव हेतु प्राकृतिक मच्छर धूपबत्ती का उपयोग करे |
    ५ . घर में किए जाने वाले धुप धुनि से भी मच्छर से बचाव होता है |

    पंचगव्य के फायदे

    इसको ध्यान में रखकर हमें यह मच्छर धूपबत्ती का निर्माण किया है। ताकि हम इसका लाभ उठा सके तथा इसके निकलने वाली धुंए से किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही होता तथा हम इसका उपयोग करके वातावरण और हमारे घर की शुद्धि में भी इसका उपयोग कर सकते हैं।

     

    Bilona Ghee Vs Normal Ghee 

     

    देसी गाय का घी Vs भैंस का घी

     

    Cow Dung Dhoop Batti Benefits गोबर से बने धूपबत्ती के लाभ

     

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.

    error: Content is protected !!
    0
      0
      Your Cart
      Your cart is emptyReturn to Shop